Wednesday, May 25th, 2022

आनंद उत्सव - 2022: अब नागरिकों के जीवन में होगा आनंद का संचार आनंद उत्सव की शुरूआत

भोपाल
जीवंत सामुदायिक जीवन, नागरिको की जिन्दगी में आनंद का संचार करता है। राज्य आनंद संस्थान एवं जिला प्रशासन द्वारा 28 जनवरी 2022 तक "आनंद उत्सव" का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत विभिन्न परम्परागत खेलों में नागरिक अपनी सहभागिता सुनिश्चित कर सकेंगे। आनंद उत्सव का उद्देश्य नागरिकों में सहभागिता एवं उत्साह को बढ़ाने के लिए समूह स्तर पर खेल-कूद और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करना है। जिला पंचायत, भोपाल अंतर्गत दोनों जनपद पंचायतों की समस्त ग्राम पंचायतों में उल्लेखित अवधि में सभी वर्गो के लिए विभिन्न परम्परागत खेलों का आयोजन किया जा रहा है। व्यस्त और आपा-धापी की जिन्दगी में ऊर्जा का एक नया संचार लाने का प्रयास आनंद उत्सव के माध्यम से किया जा रहा है।

समिति/दलों का किया गया गठन
आनंद उत्सव के अंतर्गत आयोजित किये जाने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की रूपरेखा निर्धारित करने तथा कार्यक्रमों के पर्यवेक्षण के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समिति का गठन किया गया है। इसी तरह विकासखण्ड, अनुभाग स्तरीय समिति का भी गठन किया गया है। कार्यक्रमों के आयोजन हेतु आयोजन समिति का गठन किया गया है जिसमें ग्राम पंचायत के सचिव आनंदको का चयन करेंगे। इसके साथ ही जिला स्तर से पर्यवेक्षण टीम का गठन किया गया है। जिले के अंतर्गत समस्त 187 ग्राम पंचायतों एवं 62 क्लस्टर हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त किये गए है, जिसमें फंदा अंतर्गत 26 क्लस्टर एवं बैरसिया अंतर्गत 36 क्लस्टर शामिल है।

इन परम्परागत खेलों को किया गया सम्मिलित
आनंद उत्सव में कब्बड़ी, खो-खो, बोरा रेस, रस्साकशी, चेयर रेस, पिठ्ठू, सतोलिया, चम्मच दौड़, नींबू दौड़ आदि परम्परागत खेलों को आनंद उत्सव अंतर्गत शामिल किया गया है। जिसमें सभी वर्गों के साथ-साथ 50 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को भी खेलों में सम्मिलित किया जा रहा है।

Source : Agency

आपकी राय

11 + 15 =

पाठको की राय