Tuesday, May 24th, 2022

अबुधाबी के हवाईअड्डे में हूती विद्रोहियों ने किए धमाके, दो भारतीयों समेत तीन की मौत

अबुधाबी
संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) पर एक बड़े हमले की खबर सामने आई है। अधिकारियों के मुताबिक, अबुधाबी के अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट और इसके करीबी इलाकों में मौजूद एक तेल के केंद्र पर सोमवार को तीन बड़े धमाके हुए। शक जताया जा रहा है कि यह हमले ड्रोन्स के जरिए किए गए। इन हमलों में तीन लोगों की मौत की खबर भी आई है। मृतकों में दो भारतीय और एक पाकिस्तानी नागरिक शामिल हैं। इसके अलावा छह अन्य लोगों के घायल होने की बात भी सामने आई है।

धमाकों के बाद एयरपोर्ट में आग भी देखी गई। हालांकि, इससे पहले कि यूएई इस मामले की जांच शुरू कर पाता, ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने हमले की जिम्मेदारी ले ली। इस संगठन ने बयान जारी कर यूएई पर हमले शुरू करने की बात कही है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, एयरपोर्ट के अलावा अबुधाबी नेशनल ऑयल कंपनी के पेट्रोल ले जा रहे टैंकरों में धमाके हुए। शुरुआती जांच में सामने आया है कि टैंकरों में आग लगने से ठीक पहले आसमान में ड्रोन जैसी आकृतियां देखी गई थीं, जो कि दो अलग-अलग इलाकों में गिरीं। बताया गया है कि एयरपोर्ट पर लगी आग से निपटने के लिए पुलिस और अधिकारियों की टीम भेज दी गई।

यूएई में स्थित भारतीय दूतावास ने बताया कि उसे ऑयल डिपो में धमाकों की जानकारी मिल चुकी है। इस घटना में जिन दो भारतीयों की मौत हुई, उनकी पहचान की जा रही है। आगे की जानकारी जुटाने के लिए भारतीय अफसर यूएई सरकार से संपर्क में बने हुए हैं।

हूतियों के प्रवक्ता याह्या सारी से जुड़े एक ट्विटर अकाउंट में दावा किया गया है कि हूती आने वाले कुछ घंटों में यूएई पर सैन्य ऑपरेशन चलाएंगे। गौरतलब है कि संयुक्त अरब अमीरात लंबे समय से यमन में चल रहे गृह युद्ध का हिस्सा बना है। यूएई ने 2015 में अरब गठबंधन का हिस्सा बनते हुए यमन में सरकार बदलने की मांग कर रहे हूती विद्रोहियों के खिलाफ अभियान चलाना शुरू कर दिया था। हालांकि, 2019 के बाद से यमन में यूएई की गतिविधियां कम हुई हैं।

पिछले साल फरवरी में हूती विद्रोहियों ने दक्षिणी सऊदी अरब के एक एयरपोर्ट पर ड्रोन से हमला कर दिया था। इसकी वजह से एक नागरिक विमान में आग लग गई थी। इसके अलावा अगस्त 2021 में भी हूतियों ने सऊदी के एक और एयरपोर्ट को निशाना बनाया था। हूती विद्रोही पहले भी सऊदी के हवाई अड्डों को निशाना बना चुके हैं। लेकिन यूएई के किसी एयरपोर्ट पर हूतियों के बड़े हमले का यह पहला मामला है। 

Source : Agency

आपकी राय

12 + 4 =

पाठको की राय