Saturday, December 4th, 2021

यूपीटीईटी से 3 दिन पहले सरकार का कड़ा फैसला, अगर की यह हरकत तो दर्ज होगा केस

लखनऊ
 आगामी 28 नवंबर को प्रस्तावित उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) के संबंध में सोशल मीडिया या अन्य माध्यमों से दुष्प्रचार करना महंगा पड़ सकता है। शासन ने ऐसे तत्वों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराकर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। यह परीक्षा कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच कराई जाएगी। अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा दीपक कुमार ने डीजीपी मुकुल गोयल को पत्र लिखकर शांतिपूर्ण ढंग से नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए पुख्ता प्रबंध करने का अनुरोध किया है। परीक्षा की पुख्ता निगरानी होगी।

यूपीटीईटी को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग आज
यूपीटीईटी की तैयारियों को लेकर गुरुवार दोपहर 2:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग होगी। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी संजय कुमार उपाध्याय की ओर से सभी कमिश्नर, डीआईजी, पुलिस कमिश्नर, डीएम, एसएसपी, एसपी, संयुक्त शिक्षा निदेशक, डीआईओएस को बुधवार को इस संबंध में सूचना भेजी गई। गुरुवार को प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा की अध्यक्षता में 12:30 से 2:30 बजे तक समीक्षा की जाएगी।

परीक्षार्थी ध्यान रखें-
- टेस्ट बुकलेट व ओएमआर शीट पर समान टेस्ट बुकलेट कोड अंकित हो
- अपने साथ लेकर जाएं प्रवेश पत्र, ऑनलाइन आवेदन में अंकित पहचान पत्र की मूल प्रति के साथ प्रशिक्षण योग्यता का प्रमाणपत्र या किसी भी सेमिस्टर के अंकपत्र की मूल प्रति
- अपनी आवंटित सीट पर बैठें। अन्य जगह बैठने पर अभ्यर्थन रद्द कर दिया जाएगा।
- परीक्षा शुरू होने के बाद यदि केन्द्र पर पहुंचे तो परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी। अपने साथ एक क्लिपबोर्ड लेकर आएं जिस पर कुछ न लिखा हो।

Source : Agency

आपकी राय

9 + 2 =

पाठको की राय