Saturday, December 4th, 2021

कार्तिक पूर्णिमा के दिन नदी स्नान से होगी अक्षय पुण्य की प्राप्ति

पटना
पटनावासी 19 नवंबर को कार्तिक पूर्णिमा पर्व मनाएंगे। शुक्रवार को अहले सुबह से पटना के गंगा घाटों पर कार्तिक पूर्णिमा का स्नान श्रद्धालु करेंगे। कार्तिक महीने में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पूरे महीने गंगा स्नान करते हैं।

पूर्णिमा के दिन महीने भर चलने वाले गंगा स्नान की पूर्णाहूति होगी। आचार्य माधवानंद (माधव जी) कहते हैं कि सनातन धर्म में कार्तिक पूर्णिमा का बहुत ही महत्व है। इस दिन स्नान-दान का विशेष महत्व है। कार्तिक पूर्णिमा को किसी भी नदी में स्नान करना चाहिए। सबसे अधिक महत्व राजस्थान के पुष्कर झील में स्नान करने का है। बिहार में गंगा और गंडक के संगम में स्नान करने का पुराणों में बहुत ही महत्व है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान करके विष्णु भगवान का 16 उपचार से पूजन करने का विशेष महत्व है। स्नान के बाद ‘ओम नमो भगवते वासुदेवाय, ओम नमो नारायणाय’ मंत्रों का जाप करना चाहिए।

काशी में देव-दीपावली : आचार्य माधवानंद कहते हैं कि पूर्णिमा का व्रत 18 को मनाया जाएगा, क्योंकि 19 को सूर्यास्त के समय पूर्णिमा नहीं है। 18 को पूर्णिमा दिन में 11:34 के बाद से प्रारंभ हो रही है। 18 को काशी में देवताओं की दिवाली मनाई जाएगी।

Source : Agency

आपकी राय

13 + 15 =

पाठको की राय