Monday, October 18th, 2021

सस्ते होम लोन के चक्कर में घर खरीदने का फैसला न करें 

नई दिल्ली 
त्योहारी मौसम को देखते हुए बैंक घर खरीदने के कर्ज (होम लोन) बेहद सस्ती दरों पर दे रहे हैं। एसबीआई समेत कई बैंकों ने प्रोसेसिंग शुल्क भी माफ कर दिया है। हालांकि, इसके बावजूद विशेषज्ञों का कहना है कि कभी भी सिर्फ सस्ते होम लोन को देखते हुए घर खरीदने का फैसला न करें। इसकी बजाय अपनी कमाई, जरूरत और निवेश का आकलन करते हुए इसका फैसला करना ज्यादा समझदारी भरा फैसला है।

ब्याज दरें बढ़ने की आशंका
होम लोन एक्सर्टनल बेंचमार्क से जुड़े हैं, यानी निकट भविष्य में ब्याज दरों में बढ़ोतरी होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है। ऐसे में आप आज दरों पर केवल कम ईएमआई को देखकर घर खरीदने का फैसला करते हैं तो ब्याज दरें बढ़ने पर आपके लिए ईएमआई का भुगतान मुसीबत बन सकता है। इसलिए सबसे पहले अपना बजट देंखे और वित्तीय स्थिति को आकलन करते हुए ही घर खरीदें।

इतना सस्ता हो गया है होम लोन
6.50 फीसदी की शुरुआती दर पर कोटक बैंक दे रहा होम लोन
6.70 फीसदी दर पर होम लोन दे रहे एसबीआई और एचडीएफसी
6.75 फीसदी की दर पर बैंक ऑफ बड़ौदा दे रहा होम लोन
 
कभी भी बेचने की सुविधा नहीं
विशेषज्ञों का कहना है कि यदि निवेश के लिए घर खरीदने की योजना बना रहे हैं तो इसके लिए पूरा आकलन कर लें। निवेश वही सबसे अच्छा माना जाता है जो जरूरत पर काम आए। पैसे की जरूरत पड़ने पर घर तुरंत नहीं बेच सकते या इसके किसी एक हिस्से को बेचने की भी सुविधा नहीं है। जबकि शेयर-म्यूचुअल फंड समेत कुछ अन्य निवेश में कभी भी बेचने की सुविधा होती है। हालांकि, लंबी अवधि में पूंजी बनाने के लिए घर खरीदने का फैसला सही हो सकता है।


टैक्स छूट का कितना लाभ
घर खरीदने पर आयकर नियमों के मुताबिक होम लोन के ब्याज पर दो लाख रुपये और मूलधन पर 1.50 लाख रुपये की टैक्स छूट मिलती है। मूलधन पर 1.50 लाख रुपये की टैक्स छूट धारा 80सी के तहत मिलती है जिसमें पीपीएफ, बीमा, एनपीएस समेत कई निवेश शामिल हैं।

Source : Agency

आपकी राय

14 + 10 =

पाठको की राय