Monday, January 18th, 2021

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने चीन से युद्ध के लिए तैयार रहने को कहा

    पेइचिंग
भारत के साथ पूर्वी लद्दाख सीमा से लेकर दक्षिण चीन सागर (South China Sea) में कई देशों से जारी तनाव के बीच चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अपनी सेना से जंग के लिए और मुस्तैद होने को है। जिनपिंग ने बुधवार को सशस्त्र बलों को वास्तविक युद्ध की परिस्थितियों में प्रशिक्षण को मजबूत करने और युद्ध जीतने की अपनी क्षमता बढ़ाने का आदेश दिया है। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने पीपल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) को 2027 तक अमेरिकी सेना के बराबर क्षमता की बनाने की योजना बनाई है।

AI पर दे जोर
शी ने कहा कि सेना को युद्ध जीतने के स्तर वाले प्रशिक्षण पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। हाल ही में उन्होंने इस बात पर जोर दिया था कि अगर PLA खुद को दूसरी अग्रणी शक्तियों की बराबरी में पहुंचने के लिए एक आधुनिक युद्धक शक्ति में बदलना चाहती है तो उसे कृत्रिम बुद्धिमत्ता (Artificial Intelligence) जैसी अत्याधुनिक तकनीकों को अपनाना चाहिए।

सेना को मजबूत करें
सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (CPC) का नेतृत्व करने और लंबे समय से राष्ट्रपति के पद पर काबिज 67 वर्षीय शी, सेंट्रल मिलिट्री कमीशन (CMC) के अध्यक्ष भी हैं, जो देश के 20 लाख सैनिकों की क्षमता वाली सेना का सर्वोच्च कमान है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, CMC की बैठक में शी ने नए दौर के लिए सेना को मजबूत करने के साथ-साथ सैन्य रणनीति पर पार्टी की सोच को लागू करने पर जोर दिया।

भारत समेत दुनियाभर से रार
शी के बयान ऐसे समय में आए हैं जब छह महीने से अधिक समय से पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच सीमा पर गतिरोध की स्थिति है। दो बार सेनाएं आमने-सामने आ चुकी हैं और कूटनीतिक और सैन्य स्तर पर बातचीत से इसे सुलझाए जाने की कोशिशें जारी हैं। यही नहीं, इंडो-पैसिफिक क्षेत्र, खासकर दक्षिण चीन सागर को लेकर अमेरिका, वियतनाम, फिलिपींस और दूसरे कई देशों के साथ भी चीन का सैन्य टकराव बना हुआ है।

Source : Agency

आपकी राय

2 + 9 =

पाठको की राय