Friday, November 27th, 2020

इलाज के नाम पर ढोंगी लाखो के जेवर लेकर फरार

होशंगाबाद
बच्चे के इलाज के नाम पर करीब ढाई लाख रुपए के सोने के जेवरात लेकर एक फर्जी बाबा फरार हो गया। इस फर्जी बाबा ने पूरे परिवार को पूजा पाठ और झाड़फूंक के नाम पर इतना डरा दिया था कि पीड़िता ने कोतवाली में जाकर शिकायत तक नहीं की। शुक्रवार रात साढ़े आठ बजे पीडि़ता आवेदन लेकर थाने पहुंची।

बेटे के इलाज का दिया झांसा

बताया जाता है कि बाबई रोड स्थित पटवारी कॉलोनी निवासी रक्षा पत्नी आनंद सिंह राजपूत ने किसी के कहने पर गिन्नी कंपाउंड में रहने वाले इस बाबा से अपने बड़े बेटे जो कुछ दिन से बीमार चल रहा है, उसके इलाज के लिए उसके मोबाइल नंबर 9522439986 पर संपर्क किया। बाबा ने अपने ज्योतिषी कार्यालय में महिला और बच्चे को बुलवाया। इसके बाद पूजन का उपाय बताकर ताबीज बनाकर देने की बात की। इसी दौरान बाबा ने सम्मोहित कर लिया और घर से जेवरात बुलवाए। इसके बाद इलाज के नाम पर झांसा देकर जेवरात लेकर फरार हो गया। कार्यालय में ताला लगा हुआ है और फर्जी बाबा फरार हो चुका गया। जब बाबा को फोन लगाया तो फोन नहीं उठाया, बाद में नॉट रीचेबल कर लिया। इधर, टीआई संतोष सिंह चौहान का कहना है कि यह मामला अभी तक थाने नहीं आया है। न ही जो पीड़िता बताई जा रही है उसने अभी तक कोई शिकायत दर्ज कराई है । अगर शिकायत आती है तो घटनाक्रम की जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

ऐसे बनी फर्जी बाबा का शिकार

रात 8.50 पर एक सहयोगी के साथ पीड़िता कोतवाली थाने पहुंची और आवेदन दिया। अपने आवेदन में पीड़िता ने बताया है कि वह एक माह महीने बैंक तक काम से अपने पति के साथ आई थी। तब उसकी मुलाकात बाबा के मकान मालिक सुनील शर्मा से हुई थी। उसने बताया था कि उसके मकान में एक ज्योतिष रहते हैं, तुम उनसे जाकर मिलो, वह तुम्हारे बेटे का इलाज कर देगा। तब मैं और मेरा बेटा जाकर ज्योतिष बाबा से मिले। तब बाबा को दस हजार रुपए दिए, लेकिन वह ताबीज देने की बातें करता रहा। शुक्रवार को बाबा ने घर से सोने के जेवर लाने को कहा। जब वो जेवर लेकर बाबा के पास करीब शाम के पांच बजे पहुंची तो बाबा ने कहा कि तुम लोग नर्मदा के दर्शन करके आओ, इसके बाद मैं छोटे बेटे को बाबा के पास छोड़कर चली गई। करीब आधा घंटे बाद वापस आई तो बाबा गायब हो चुका था।

Source : Agency

आपकी राय

15 + 6 =

पाठको की राय