Monday, August 3rd, 2020

अनिल कुंबले का खुलासा, 12 साल पहले हुए मंकीगेट विवाद में हरभजन सिंह की भी गलती थी

 नई दिल्ली 
भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले ने 2007-08 के ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान हुए मंकीगेट प्रकरण को याद किया और कहा है कि इस मामले में ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह की भी गलती थी और यह बात ड्रेसिंग रूम में भी कई लोग मान रहे थे। 2007-08 ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान भारत के हरभजन सिंह और ऑस्ट्रेलिया के एंड्रय़ू सायमंड्स के बीच कहासुनी हुई थी जिसके बाद नस्लीय टिप्पणी करने के आरोप में हरभजन पर तीन मैचों का प्रतिबंध लगा दिया गया था। मंकीगेट मामला इतना बढ़ गया था कि भारत ने हरभजन पर लगाए गए प्रतिबंध के खिलाफ अपील दायर थी और इस दौरे को बीच में छोड़ भारत लौटने की मांग भी होने लगी थी। इस मामले में सचिन तेंदुलकर की गवाही हुई थी जिसके बाद हरभजन से प्रतिबंध हटाया गया था।

 कुंबले ने भारतीय ऑफ स्पिनर आर अश्विन से उनके यू-ट्यूब चैनल 'डीआरएस विद ऐश' पर कहा कि एक कप्तान के रूप में आप आमतौर पर मैदान पर निर्णय लेने के लिए तैयार रहते हैं। यहां मुझे कुछ ऐसी चीजों का सामना करना पड़ा जो मैदान के बाहर की थी और मुझे खेल के हित में निर्णय लेना था। उन्होंने कहा कि हमारे टीम के खिलाड़ी हरभजन पर नस्लीय टिप्पणी करने के कारण तीन मैचों का प्रतिबंध लगा दिया गया था जिसके बाद हमने इस फैसले के खिलाफ अपील की थी। कुंबले ने कहा कि हमें साफ तौर पर टीम के रूप में एक साथ होना था। लेकिन उस समय ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि टीम दौरा बीच में छोड़ वापस चली जाएगी। हालांकि ऐसा करने पर लोगों को लगता की भारतीय टीम ने कुछ गलत किया होगा इसलिए लौटकर वापस आ गई।
 पूर्व कप्तान ने कहा कि मेरे ख्याल से कप्तान या टीम के तौर पर हम दौरे पर सीरीज जीतने जाते हैं। दुर्भाग्य से पहले दो टेस्ट के नतीजे हमारे पक्ष में नहीं रहे थे लेकिन बाकी दो मैचों को जीत कर हमारे पास सीरीज बराबर करने का मौका था। मैं भाग्यशाली था कि टीम में सीनियर खिलाड़ी और पूर्व कप्तान शामिल थे। उन्होंने कहा कि हमने एक टीम के रुप में यह दौरा जारी रखने का फैसला किया और यह निर्णय लिया कि हम सीरीज के बाकी मैच खेलेंगे और जीतेंगे क्योंकि इससे हमारे प्रशंसकों में सही संदेश जाएगा। 
 

Source : Agency

आपकी राय

12 + 11 =

पाठको की राय